...

8 views

मिलो न कुछ बताना है तुम्हे
#SilentConfessions
बहुत कुछ कहना था तुमसे इस बिछड़ते दौर में।
हां मरूंगा तो नहीं बिन तुम्हारे ,कुछ पल ही सही तुम्हारे साथ ।
मुझे रहना था इस बिछड़ते दौर में।
हर बात तुमसे, हर मुलाकात तुमसे , अधूरी है मेरी।
मिलो न ।
बहुत कुछ कहना है तुमसे ।
सुबह से लेकर शाम तक ।
दुखो से लेकर खुशियों तक ।
प्रेम से लेकर प्यास तक ।
सुरूर से लेकर जुनून तक ।
कमजोरी से हौसलो तक ।
हर पल का हिस्सा तुम्हे बनाना है ।
मिलो तो सही।
अपनी कहानी का एक किस्सा तुम्हे सुनाना है ।
वो दिन याद है तुम्हे पूरा दिन साथ में बिताया था ।
घंटो भर बस स्टैंड पर ,बस का इंतजार करवाया था ।
बस तुमसे एक पल का इंतजार करवाना है ।
मैं गर लेट हो जाऊं किसी दिन तो तुम्हे बस दरवाजे पर खड़ा पाना है ।
मिलो न कुछ टूटे वादे , कुछ छूटी कसमों की तस्वीर देखनी है ।
नई नहीं बस एक बार फिर उसी पुरानी जिंदगी की कहानी नए सिरे से लिखवानी है ।
मिलो न
कुछ बताना है तुम्हे
कैसे है हाल ए दिल सुनाना है ।
🥰🥰🥰


© viरु