...

7 views

प्रिय अकेलापन,अतीत एक मृत फूल है
प्रिय अकेलापन

नमस्कार। मुझे आशा है कि तुम स्वस्थ और खुशहाल हो। आज मैं तुम्हारे साथ अपना दिल साझा करना चाहती हूँ। "अतीत एक मृत फूल है" - यह रूपक मेरे मन में एक गहरी भावना छू गया है। हम सभी के जीवन में अतीत की यादें होती हैं, पर उनसे जुड़कर हमें आगे बढ़ना चाहिए।

तुम्हें अकेलापन का सामना करना पड़ रहा है, पर मेरे विश्वास से तुम इस संघर्ष को जीत सकती हो। अपने अंतर्निहित शक्तियों को पहचानो और उनका सहारा लो। तुम अपने दुखों को एक मृत फूल की तरह छोड़कर, नए जीवन के साथ मिलकर चलो।

मुझे पूरा विश्वास है कि तुम इस मुश्किल समय से निकलकर एक नया आरंभ करोगी। तुम महान हो, और तुम्हें यह सबक सिखाने में सक्षम होना चाहिए।

ध्यान रखना, अपने अंतर्निहित शक्तियों का सहारा लेना हमेशा महत्वपूर्ण रहता है। तुम अकेलापन के मैदान में
मजबूत हो, और जानो कि तुम किसी भी समस्या का सामना कर सकती हो। मैं हमेशा तुम्हारे साथ हूँ और तुम्हारे लिए दुआएं करती हूँ।

अतीत एक मृत फूल है, इसे जीवंत करने के लिए हमें आगे बढ़ना होगा। इस संदेश को ध्यान में रखते हुए, नए सफर की शुरुआत करो और अपने अगले कदम की ओर बढ़ो।

जल्द ही मिलेंगे।

तुम्हारी,

© Simrans