...

8 views

सोचा तो था बहुत कुछ
सोचा तो था बहुत कुछ,
मन में उठी वो सारी सोचें।
पर हर विचार में एक ख्याल था,
जो छूने पर भी था अधूरा।

एक सपना था, जो दिल में बसा था,
हकीकत में उसे पाने की ख्वाहिश थी।
पर क्या जानते थे हम,
कि हर मंजिल पर है एक नई राह।

जीवन के सफर में,
हमने नए रास्ते चुने।
कदम मिलाकर चलने लगे,
और सफलता की ओर बढ़ने लगे।

सोचा तो था बहुत कुछ,
पर अब जी भरकर जिया।
नए सपनों के साथ,
हर पल को खूबसूरत बनाया।
© ©️Simrans

Related Stories