...

8 Reads

🥀धड़कनें तो
एक पल को तुम्हारी भी
रुकी होंगी ना
यूँ सामने मुझे पा कर
बस नज़र नहीं उठ पायी होगी

क्या कहूँ,कैसे कहूँ और
किससे कहूँ
ऐसे असमंजस में
तो तुम भी पड़े होंगे ना

पूछ लूँ हाल-खबर
डाँटते हुए दूँ खूब सारी उलाहना ⚘️⚘️☘️☘️
बस यू ही,,,