...

12 views

Happy father's day
कौन कहता है पिता होना आसान होता है
राम के वियोग में हर दशरथ को रहना होता है
सीता की विदाई को हर जनक को सहना होता है
सयम और पीड़ा ही हर पिता का गहना होता है

कौन कहता है पिता चट्टान सा सख्त होता है
पुत्र मोह में बंधा हर पिता धृतराष्ट्र बन रोता है
अश्वथामा के प्यार में हर पिता गुरु द्रोण सा झुकता है
अतुल्य प्रेम और समर्पण का दूसरा नाम पिता होता है

कौन कहता है पिता प्रेम की भावना से वंचित होता है
खुद नंगे पांव रहकर भी वो हमे आसमां दिलाता है
खुद संघर्षों की चादर ओढ़ वो हमे सुकून से सुलाता है
त्याग और साहस की सबसे बड़ी पहचान एक पिता होता है



© Shivangi Agarwal