...

7 views

निदरिया (एक लोरी)
न से निदरिया निदरिया रे
आ जा रे आंखों में निदरिया रे।
थक गए होंगे तेरे पांव रे
भटका होगा कितनी डगरिया रे।

न से निदरिया निदरिया रे
आ जा रे आंखों में निदरिया रे।
थोड़ी नहीं, ज्यादा सी तू नींद अब ले
जानू सारी रात जगी ये आंखिया हैं।

न से निदरिया निदरिया रे
आ जा रे आंखों में निदरिया रे।
बंद भी कर अपने ये दो नयन
नयनों का खेल न अभी अच्छा है।

जागेगा जब पूरी नींद लेके तू
मिलूंगी मैं तेरे सिरहाने पर।
एक हाथ हो तेरे माथे पे
दूजा हाथ थपकी देते हुए।

न से निदरिया निदरिया रे
खो जाना बाबू मोरे निदिया में।
आ जा रे आंखों में निदरिया रे।
न से निदरिया निदरिया रे
आ जा रे आंखों में निदरिया रे।
© Amitra

Related Stories