...

5 views

खुद से प्यार
क्यों ना आज थोड़ा प्यार खुद से भी कर लिया
जाए, औरों के लिए तो बहुत जी लिया क्यों ना अब थोड़ा सा खुद के लिए भी जिया जाए, क्यों ना थोड़ा प्यार खुद से कर लिया जाए,
क्यों ना आज का पूरा दिन खुद के साथ बिताया जाए, थोड़ी बातें खुद से भी कर ली जाए, थोड़ा खुद को भी सुना जाए, क्यों ना थोड़ा प्यार खुद से भी कर लिया जाए,
क्यों ना आज घर को छोड़ के खुद को स्वारा जाए, अपनी पसंद के कपड़ो को अलमारी से निकाल कर उन कपड़ो को पहना जाए, खुद को सजाया जाए, अपनी पसंद के गानों को सुना जाए अपनी पसंद के गानों पर खुल के नाचा जाए, जो काम करने को दिल करे क्यों ना उसी काम को किया जाए, क्यों ना आज खुल के जिया जाए और थोड़ा प्यार खुद से भी कर लिया जाए,
क्यों ना आज अकेले लॉन्ग ड्राइव पर जाया जाए, अपनी गाड़ी की और अपनी जिंदगी की ड्राइविंग सीट को खुद संभाला जाए, उस लॉन्ग ड्राइव को अपनी आजादी को महसूस किया जाए,
क्यों ना आज बच्चों के साथ बच्चा बन कर खेला जाए,कोई क्या कहेगा क्या सोचेगा यह सब छोड़ कर खुल के ज़िन्दगी को जिया जाए, बचपन में हम सब कितने खुश थे कोई फ़िक्र नहीं कोई ज़िमींदारी नहीं, तो क्यों ना उन पलो को फिर से जिया जाए ,बच्चों के साथ क्यों ना बच्चा बना थोड़ी देर के लिए ही सही क्यों ना जिंदगी को बिना किसी डर और फ़िक्र के जिया जाए, क्यों ना थोड़ा प्यार खुद से किया जाए.



© नेहा शर्मा