...

37 views

तुम ही बताओ, हुज़ूर ए आला!🌸♥️( With English Translation)
♥️
लूट ले गए तुम चैन ओ करार दिल का,
चोर हो हसीन या वक्त के शहंशाह हो,

चल पड़ते हैं पैर खुद ब खुद उस तरफ़,
उम्मीद तुम्हारे दीदार की जिस राह हो,

जाने क्यों समझ नहीं आते ज़रा से भी,
तुम ही हमारे शिकवा, हमारी आह हो,

इतने भी गए गुज़रे नहीं हम, ओ सनम,
मुंह से हर बार जो तुम्हारी वाह-वाह हो,

खामोश हो जाते हो हमारी इल्तज़ा पर,
गोया तुम बेपरवाह से समंदर अथाह हो,

तुम ही बताओ कोई तरीका हुजूरे आला,
तुम्हारे दिल की अगर हमनें पानी थाह हो,

करिएगा इस्तकबाल ऐसे दिल का साहिब,
जिस दिल में तुम्हारे लिए बेइंतेहा चाह हो!

♥️🌸
दीदार— दर्शन
इल्तज़ा— अनुरोध, निवेदन
अथाह— जिसकी गहराई न नापी जा सके
इस्तकबाल— स्वागत

YOU TELL ME..!
♥️🌸
You have stolen the peace and comfort
of my heart,
Are you a dashing thief or the Handsome hunk,

My feet automatically move towards
that direction,
Whichever path I hope to see you,
O my chosen chunk,

I don't know why I fail to understand you even a bit,
That's the only complaint of mine,
my sigh,

O my beloved, don't think I am
so worthless,
That I should praise you
every time,

You keep mum on my repeated
proposals,
As if you are a bottomless and
carefree ocean,

O' crown of my head, you tell me
some way,
How can I fathom the depth
of your heart serene,

Mind it! Never reject, rather, welcome such a loving heart, O my beloved,
Which has love for you, infinite, pure
and clean!

— Vijay Kumar
© Truly Chambyal