...

4 views

🙂राज ए मोहब्बत 🙂
हां मैंने अपने दिल में कई राज छुपा रखा है,
सबके सामने खुल ना जाए वह बात छुपा रखा है।
बेवजह हंसते हैं दुनिया के सामने यूं ही,
आंखों में अपने मोतियों का समंदर छुपा रखा है।
हां मैंने अपने दिल में कई राज छुपा रखा है,
सबके सामने खुल ना जाए वह बात छुपा रखा है।
गैरों से मिलकर अपनों का एहसास छुपा रखा है,
अपनों को ठेस ना पहुंचे दिल में वो जज्बात छुपा रखा है।
हां मैंने अपने दिल में कई राज छुपा रखा है,
सबके सामने खुल ना जाए वह बात छुपा रखा है।
शिकायत उन से नहीं खुद से है यह बात खुद को समझा रखा है,
आज भी दिल में उनकी इज्जत वैसी ही है यह दबाए रखा है।
हां मैंने अपने दिल में कई राज छुपा रखा है,
सबके सामने खुल ना जाए वह बात छुपा रखा है।
कहने को वह मेरे हैं यह बात समझाएं रखा है,
मगर जन्म-जन्म का साथ किसी और के साथ निभाए रखा है।
हां मैंने अपने दिल में कई राज छुपा रखा है,
सबके सामने खुल ना जाए वह बात छुपा रखा है।
मानता हूं आज खुदगर्ज हूं जमाने के सामने यह खुद को समझाए रखा है,
तेरी हाथों से अपना हाथ आज हटाए रखा है।
हां मैंने अपने दिल में कई राज छुपा रखा है,
सबके सामने खुल ना जाए वह बात छुपा रखा है।
मोहब्बत भी एक राज है ये आज भी दुनिया से छुपाए रखा है,
दर्द की परवाह न करते हुए आज भी उनसे मोहब्बत दिल ने निभाए रखा है।
हां मैंने अपने दिल में कई राज छुपा रखा है,
सबके सामने खुल ना जाए वह बात छुपा रखा है।🙂🖤


©अमन2918