...

4 views

प्रेम
कभी सोचती हूं प्रेम क्या है?
जो हमे हिम्मत दे जाए क्या यही प्रेम हैं
या फिर जो जीना सिखादे
या फिर जिससे छुपाने को कुछ न रहे
जो गम में भी मुस्कुराता रहे
जो हौसला दे हमे आगे बड़ने का
या फिर जो साथ चले चाहे जो भी हालात हो,

कभी सोचती हूं प्रेम क्या है?