...

15 views

क़िस्मत ही फूटी निकली
तेरे इश्क़ की ज़ंजीर ही, टूटी निकली
मिलते कैसे, क़िस्मत ही फूटी निकली

इश्क सच्चा तो कायनात साथ देती है
बुजर्गों की सब कहावतें झूठी निकली

भौंकने लगा कुत्ता मेरा कुछ देखकर
शायद गली से उसकी स्कूटी निकली

शहर में बरसात मगर घर सूखा मेरा
गरजती, काली घटाएं रूठी निकली

जिसके हाथ होते थे, मेरे गालों पर
उसकी उंगलियों में, अंगूठी निकली

दर्द ए दिल इलाज़ जहर ढूंढा लवकुश
मयखाने गए वहां जड़ी बूटी निकली
- Lavkush Gupta
@kavi_lavkush & @love_gupta2.0
#lavkushgupta
© Lavkush Gupta