...

3 views

सफर
कच्चे रास्ते के गोते,
हरे चिनार के पत्ते,
बुंद बुंद चिटकते मोती,
और ये के काश वो भी होती,
तीखे मोड़ों की धड़कनें,
अलसाई नदियों की भी सुनें,
ये रास्ते जिंदा कर गए मुझे,
सफर में सिफर कर गए मुझे।

© Anamika Tripathi