...

14 views

🌹🌿"मन के झरोखे में "🌿🌹
मन के झरोखे में,हर पल कोई दस्तक देने लगा है!!
न जाने क्यों,रह-रह कर मन व्याकुल सा होने लगा है!!

यामिनी इन नैनों में ही बीतने लगा है,कोई हृदय की
धमनियों को निरन्तर व्यथित करने लगा है!!

मन की पीड़ा अब किसे मैं सुनाऊँ,सारा ही
जग अब तो मेरी अवस्था पर हंसने लगा है!!

बावरा सा मन कुछ हुआ है इस तरह कि लगता है
जैसे कि मन में कोई उन्माद सा अब होने लगा है!!

अव्यवस्थित स्वयं की वेदना है कुछ ऐसी कि शरद ऋतु
में भी,कपोलों में मेरे श्रमकर्ण उभरने लगा है!!

@Deepa dasgupta

© Deepa🌿💙

Related Stories