...

6 views

Gerua...
Kehti he ye rahen,
Wakt ki khamoshi se,
Abb manjil dur nehi teri gharse... !!

कहती हैं ये राहें,
वक्त की खामोशी से,
अब मंजिल नहीं दूर तेरी घरसे।।

Milne aa rahe hen,
Jese sari manjilen apni marjise... !!

मिलने आ रहे हैं,
जैसे सारी मंजिलें इस से अपनी मर्जी से।।

Neel rang neelmani se churake,
Premi sare Gerua rang jate..!!

नील रंग नीलमणि से चुराके,
प्रेमी सारे गेरुआ रंग जाते ।।

चाहे वो अष्ट शखा हो,
या सुदामा या मीरा हो ।।

चाहे वे नामदेव हो,
या फिर चाहे सबरी माई ।।

© All Rights Reserved By RameswariMishra