...

9 views

एक बार फिर मिलना हैं
सुनो न एक बार फिर तुमसे मिलना हैं
पुराना ही सही हर किस्सा दोहराना हैं।।

हम पूछे अगर तुमसे तो कहना सब वडिया है ,
क्या पता कब तुम्हे मेरा याद सताता है ।।

तुम सुनाना अपनी कहानियों को
मेरा भी दिल हर कहानी सुनना चाहता है ।।

सुनो न एक बार फिर तुमसे मिलना हैं
पुराना ही सही हर किस्सा दोहराना हैं।।

अक्सर कहती हो न लिखो कुछ मेरे लिए
देख जरा मेरी हर शायरी में तेरा ही जिक्र होता हैं।।

कभी जो न कह पाए तुमसे हर वो बात
एक एक कर सारी तुम्हे मन में बताना है ।।

लिखा हमने तेरे लिए हर शायरी हर गजल
बस एक एक कर तुम्हे यादों में ही दिखाया हैं।।

सुनो न एक बार फिर तुमसे मिलना हैं
पुराना ही सही हर किस्सा दोहराना हैं।।

तुम जो संभाल लेती हो मुझे हर बात पर
ये दुनिया वैसी नहीं है ये भी तुम्हे बताना है ।।

तुम जो ये दिलों में सिर्फ यादें समेट के गई हो
एक एक कर सबको यादों में कैद करना है।।

देखा है हमने तुम्हे हर शायरी हर गजल में
बस अब ये शायरी तुम्हे दिखाना है।।

सुनो न एक बार फिर तुमसे मिलना हैं
पुराना ही सही हर किस्सा दोहराना हैं।।
© Namrata Mahato