...

10 views

एहसास
वो लफ्ज़ कहाँ से लाऊँ
जो तू पढ़ पाए ,
वो बात कहां से लाऊँ
जो तुझ तक पहुंच जाए ,
वो एहसास कहाँ से लाऊँ
जो तुझ्को छू जाए
वो नज़र कहाँ से लाऊँ
जिनमे तू बस जाए ,
वो बंधन कैसे बनाऊं
जिनमे तू बंध जाए ,
वो दिल कहाँ से लाऊँ
जिसमे तू बस जाए ,
वो खुशी कहाँ से लाऊँ
जिनमे तू मुस्काए
वो धड़कन कैसे सुनाऊं
जिसे बस तू सुन पाए ।