...

1 views

पिछली सदी क़ा सच
अमन और अहिंसा की
बाते इस युग में करना
कोई मायना नहीं रखता
क्योंकि ये बाते अब तिथि बाहय
हो चुकी हैँ

पिछली सदी का सच इस सदी में
ढूंढ़ने की तुम्हारी ये कोशिश व्यर्थ सिद्ध होंगी