...

2 views

वज़ूद
मेरे अच्छे दिनों के ख्वाब आज भी
मेरे साथ चल रहे है
लेकिन हुआ वही जो मेरी किस्मत मे पहले से ही तय था

मंदिरो मे मथा टेका मस्जिदौ मे अज़ान भी दी
सभी कोनो मे उसे डुंडा था पर न ईश्वर मिला न ही खुदा का कोई वज़ूद था

Related Stories